Understand Ayurveda For Immunity || Ayurvedic Immunity Booster || Increase Immunity Power

"रसादीनां शुक्रन्तानां धातूनां यत् परम् तेजस्तत् खल्वोजस्तदेव बलं इति उच्यते"

7 धातुएँ 

  1. रस
  2. रक्त
  3. मांस 
  4. मेद
  5. अस्थि 
  6. मज्जा 
  7. शुक्र 

3 दोष 

  1. वात
  2. पित्त 
  3. कफ 

3 मल

  1. मूत्र 
  2. पुरीष 
  3. स्वेद

ओज के लक्षण

  1. मांस की स्थिरता व पुष्टि 
  2. सभी कार्यों को करने का उत्साह 
  3. आवाज और वर्ण में प्रसन्नता (चेहरे का भाव)
  4. सभी इन्द्रियों का ठीक-ठीक अपने कार्यों में लगे रहना 

"न च सर्वाणि शरीराणि व्याधिक्षमत्वे समर्थानि भवन्ति "
 
3 types of बल

  1. सहज बल - जन्म से प्राप्त शारीरिक व् मानसिक बल 
  2. कालज बल - ऋतु अनुसार (Seasonal) और अवस्था अनुसार (Age Factor)
  3. युक्तिकृत बल - आहार, विहार, व औषधि सेवन 

ओज क्षय के कारण

  1. Injury 
  2. धातुक्षय -  आहार-विहार   
  3. क्रोध 
  4. शोक 
  5. चिंता
  6. अत्यधिक शारीरिक परिश्रम
  7. अनशन (Fasting)
  8. मदकारक पदार्थ - "बुद्धिं लुम्पति यद्द्रव्यं मदकारी तद् उच्यते"

ओजवर्धक उपाय / पदार्थ 

  1. मानसिक प्रसन्नता (Mental Positivity)
  2. मधुर-स्निग्ध-शीत-लघु आहार 
  3. दूध 
  4. रसायन औषधियां - आंवला, गिलोय, हरीतकी
     
You find it Useful, Share This:

To Know more, talk to our doctor. Dial +91-8396919191